अगले वर्ष से समाप्त होगा अलग रेल बजट

No more separate Rail Budget from year 2017अगले वित्त वर्ष से रेलवे के लिए अलग बजट नहीं बनेगा। इस तरह साल 1924 से चला आ रहा यह सिलसिला वहीं खत्म हो जाएगा क्योंकि वित्त मंत्रालय रेल बजट को आम बजट में ही मिला देने के प्रस्ताव पर सहमत हो गया है। एक अंग्रेजी अखबार की खबर के मुताबिक, फाइनेंस मिनिस्ट्री 5 मेंबर्स की एक कमेटी बनाएगी जो इस प्रॉसेस को अंतिम रूप देगी। रेल मिनिस्टर सुरेश प्रभु भी रेल बजट के खत्म करने की बात कहते रहे हैं। 1996 के बाद से कई राजनीतिक दल भी रेल बजट को खत्म करने की बात कर रहे थे।
रेल बजट के सामान्य बजट में पेश होने के बाद उसे भी अन्य डिपार्टमेंट्स की तरह पैसा अलॉट होगा। लेकिन इसके खर्च और कमाई पर फाइनेंस मिनिस्ट्री नजर रखेगी। जब रेलवे को पूरा फंड अलॉट हो जाएगा तो इसके कई पर्पज अलग हो जाएंगे और इसका मॉडल पोस्टल डिपार्टमेंट की तरह काम करने लगेगा।

Filed in: Year 2016, अगस्त 2016, भारत, सम-सामयिकी, समाचार, सामान्य ज्ञान Tags: , , , ,

You might like:

राजीव गांधी किसान न्याय योजना राजीव गांधी किसान न्याय योजना
इराक के नए प्रधानमंत्री बने मुस्तफा अल- काधेमी इराक के नए प्रधानमंत्री बने मुस्तफा अल- काधेमी
6 to 10 May 2020 Current Affairs in Hindi 6 to 10 May 2020 Current Affairs in Hindi
1 to 5 May 2020 Current Affairs in Hindi 1 to 5 May 2020 Current Affairs in Hindi
© 2020 सामान्य ज्ञान. All rights reserved. XHTML / CSS Valid.
Proudly designed by eShala.org.