कन्या विद्या धन योजना (Kanya Vidya Dhan Yojna) in UP

kanya vidya dhan yojna in upकन्या विद्या धन योजना (Kanya Vidya Dhan Yojna): कन्या विद्या धन योजना, उत्तर प्रदेश सरकार की बालिका शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए शुरू की गई एक महत्वाकांक्षी योजना है जिसमें छात्राओं को 20 हजार रुपये धनराशि गरीबी रेखा से नीचे बसर करने वाले शहरी एवं ग्रामीण परिवारों की छात्राओं को दी जाती है। इस योजना का लाभ उन छात्राओं को मिलता है जिन्होंने यूपी बोर्ड की इंटरमीडिएट या उसके समकक्ष परीक्षा उत्तीर्ण की हो। यह धनराशि उन छात्राओं को भी मिलेगी जिन्होंने हाईस्कूल परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद पॉलीटेक्निक या औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान में कम से कम दो साल का डिप्लोमा या ट्रेड सर्टिफिकेट प्राप्त किया हो। योजना का लाभ सिर्फ उन्हीं छात्राओं को मिलेगा जिनके परिवार की कुल आय 35000 रुपये से अधिक न हो। गरीबी रेखा के नीचे बसर करने वाले परिवारों की बालिकाओं को वरीयता दी जाएगी।
योजना के तहत छात्राओं को आवेदन पत्र भरकर जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय में जमा करना होता है। निर्धारित प्रारूप पर भरे गए आवेदन पत्र को जमा करने से पहले उन्हें उस विद्यालय के प्रधानाचार्य से संस्तुत और अग्रसारित कराना होगा जहां से उन्होंने कक्षा-12 या समकक्ष परीक्षा उत्तीर्ण की हो। पॉलीटेक्निक या आइटीआइ से डिप्लोमा या ट्रेड सर्टिफिकेट हासिल करने वाली छात्राओं को संबंधित पॉलीटेक्निक या आइटीआइ के प्रधानाचार्य से आवेदन पत्र अग्रसारित कराना होगा।

Filed in: Year 2013, दिसम्बर महीना, प्रमुख योजनाएँ, फ़ोटो से जाने, भारत, शिक्षा एवं स्वास्थ्य, सम-सामयिकी, सामान्य ज्ञान, सामान्य ज्ञान लेख, हमारा भारत, हमारे राज्य Tags: , , ,

You might like:

PM मोदी मिले चीनी राष्ट्रपति से महाबलीपुरम में PM मोदी मिले चीनी राष्ट्रपति से महाबलीपुरम में
अमिताभ बच्चन को दादा साहेब फाल्के पुरस्कार 2019 अमिताभ बच्चन को दादा साहेब फाल्के पुरस्कार 2019
प्रधानमंत्री पीएम मोदी ने संयुक्त राष्ट्र के जलवायु परिवर्तन सम्मेलन में भाग लिया प्रधानमंत्री पीएम मोदी ने संयुक्त राष्ट्र के जलवायु परिवर्तन सम्मेलन में भाग लिया
विश्व बॉक्सिंग चैम्पियनशिप में अमित पंघाल ने रजत पदक जीता विश्व बॉक्सिंग चैम्पियनशिप में अमित पंघाल ने रजत पदक जीता
© 2019 सामान्य ज्ञान. All rights reserved. XHTML / CSS Valid.
Proudly designed by eShala.org.