चंद्रोदय मंदिर वृंदावन

chandrodaya temple in vrindavanराष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने वृंदावन में चंद्रोदय मंदिर की आधारशिला रखी। बताया जा रहा है कि यह विश्व का सबसे ऊंचा मंदिर बनेगा और यह 700 फुट ऊंचा होगा। कार्यक्रम के दौरान राष्ट्रपति ने कहा कि विश्व के सबसे ऊंचे मंदिर के गर्भगृह का शिलान्यास करना उनके लिए सम्मान और गौरव की बात है। राष्ट्रपति का ये भी कहना है कि भारत विकासशील देश से आगे बढ़कर अब विकसित राष्ट्र बनने की राह पर है। इस परिस्थिति में देशवासियों और खासकर युवाओं पर सामाजिक व आर्थिक दबाव बढ़ेंगे। ऐसे में आध्यात्मिकता की ज्यादा जरूरत होगी। उन्होंने ये भी कहा कि भगवान श्रीकृष्ण की पवित्र धरती पर आकर वह बेहद खुश हैं। साथ ही वृंदावन में आध्यात्मिक केंद्र बनेगा और पांच हजार साल पुराने कृष्ण के जमाने का वैभव भी लौटेगा।
मंदिर की आधारशिला रखने के बाद प्रणब बांके बिहारी मंदिर में दर्शन करने गए, जहां उन्होंने करीब 20 मिनट तक पूजा-अर्चना की। इसके बाद वह हेलीकॉप्टर से दिल्ली वापस लौट गए। इससे पहले प्रदेश के राज्यपाल राम नाइक, सांसद हेमा मालिनी और प्रदेश के कारागार मंत्री बलराम यादव ने उनका स्वागत किया।

Filed in: Year 2014, कला एवं संस्कृति, धर्म एवं संस्कृति, नवंबर 2014, फ़ोटो से जाने, भारत, विश्व, विश्व-सार, सम-सामयिकी, समाचार, सामान्य ज्ञान, सामान्य ज्ञान लेख, हमारा भारत, हमारे राज्य, हिन्दू धर्म Tags: , , , , ,

You might like:

नोबेल पुरस्कार विजेता 2019 सूची नोबेल पुरस्कार विजेता 2019 सूची
इथियोपिया के प्रधानमंत्री को नोबेल शांति पुरस्कार 2019 इथियोपिया के प्रधानमंत्री को नोबेल शांति पुरस्कार 2019
PM मोदी मिले चीनी राष्ट्रपति से महाबलीपुरम में PM मोदी मिले चीनी राष्ट्रपति से महाबलीपुरम में
रसायनशास्त्र नोबेल पुरस्कार 2019 विजेता रसायनशास्त्र नोबेल पुरस्कार 2019 विजेता
© 2019 सामान्य ज्ञान. All rights reserved. XHTML / CSS Valid.
Proudly designed by eShala.org.