ब्रिक्स नीति नियोजन वार्ता 2016 पटना में संपन्न

ब्रिक्स नीति नियोजन वार्ता का बिहार राज्य की राजधानी पटना में 25-26 जुलाई, 2016 को सफलतापूर्वक समापन हुआ। इस वार्ता में दैनिक कूटनीति के तत्कालिक मुद्दों से आगे बढ़ते हुए अंतर्राष्ट्रीय स्थिति, प्रत्येक देश की क्षेत्रीय स्थिति और वहां मौजूद प्रवृत्तियों के सामरिक मूल्यांकन के बारे में लाभदायक विचार विनिमय हुआ। शिष्टमंडलों ने अंतर्राष्ट्रीय शासन में ब्रिक्स की भूमिका, ब्रिक्स फोरम में मौजूदा सहयोग और ब्रिक्स देशों में कंवर्जेन्स में परिलक्षित सहयोग के बारे में चर्चा की। इस वार्ता ने विदेश नीति नियोजन और ब्रिक्स देशों में मूल्यांकन में सर्वोत्तम प्रक्रियाओं को साझा करने के लिए एक अवसर प्रदान किया है। वार्ता की गुणवत्ता और गुंजाइश ने ब्रिक्स की आवाज के महत्व की पुष्टि करते हुए यह बताया गया है कि यह वह समूह है जो विश्व की पांच प्रमुख अर्थव्यवस्था को एक साथ लाता है और इन देशों में विश्व की 43 प्रतिशत जनसंख्या निवास करती है।
पटना में आयोजित यह वार्ता पांच आयामी दृष्टिकोण को अपनाकर ब्रिक्स देशों ने सहयोग को और मजबूत बनाने के लिए वर्ष 2016 के लिए ब्रिक्स के अध्यक्ष के रूप में भारत के उद्देश्य की दिशा में योगदान करेगी।
1. ब्रिक्स सहयोग को गहरा और सतत बनाने के लिए संस्थान निर्माण;
2. फ़ोर्टालेज़ा और ऊफ़ा शिखर सम्मेलनों में माननीय प्रधानमंत्री की घोषणाओं सहित पिछले शिखर सम्मेलनों के निर्णयों को लागू करना;
3. मौजूदा सहयोग तंत्रों में सहक्रियाओं को एकीकृत करना;
4. नवाचार जैसे नए सहयोग तंत्र; तथा
5. निरंतरता यानि आपसी सहमत मौजूदा ब्रिक्स सहयोग तंत्रों को जारी रखना। संक्षेप में, ‘आईआईआईआईसी या आई4सी’ उद्देश्य।

Filed in: Year 2016, जुलाई 2016, भारत, विश्व, सम-सामयिकी, समाचार, सामान्य ज्ञान, सामान्य ज्ञान लेख Tags: , , , ,

You might like:

मनु भाकर ने ISSF विश्व कप में स्वर्ण जीता मनु भाकर ने ISSF विश्व कप में स्वर्ण जीता
महिंदा राजपक्षे होंगे श्रीलंका के नए प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे होंगे श्रीलंका के नए प्रधानमंत्री
अभिजीत बनर्जी और उनकी पत्नी सहित 3 लोगों को अर्थशास्त्र का नोबेल पुरस्कार अभिजीत बनर्जी और उनकी पत्नी सहित 3 लोगों को अर्थशास्त्र का नोबेल पुरस्कार
चिकित्सा का नोबेल पुरस्कार 2019, 3 वैज्ञानिकों को संयुक्त रूप से चिकित्सा का नोबेल पुरस्कार 2019, 3 वैज्ञानिकों को संयुक्त रूप से
© 2019 सामान्य ज्ञान. All rights reserved. XHTML / CSS Valid.
Proudly designed by eShala.org.