संविधान की प्रस्तावना

संविधान की प्रस्तावना:  ” हम भारत के लोग, भारत को एक सम्पूर्ण प्रभुत्व सम्पन्न, समाजवादी, पंथनिरपेक्ष, लोकतंत्रात्मक गणराज्य बनाने के लिए तथा उसके समस्त नागरिकों को :  सामाजिक, आर्थिक और राजनीतिक न्याय, विचार, अभिव्यक्ति, विश्वास, धर्म और उपासना की स्वतंत्रता, प्रतिष्ठा और अवसर की समता प्राप्त करने के लिए तथा  उन सबमें व्यक्ति की गरिमा और राष्ट्र की एकता और अखण्डता सुनिश्चित करनेवाली बंधुता बढाने के लिए  दृढ संकल्प होकर अपनी इस संविधान सभा में आज तारीख 26 नवंबर, 1949 ई0 (मिति मार्ग शीर्ष शुक्ल सप्तमी, सम्वत् दो हजार छह विक्रमी) को एतद द्वारा इस संविधान को अंगीकृत, अधिनियमित और आत्मार्पित करते हैं।”

संविधान की प्रस्तावन 13 दिसम्वर 1946 को जवाहर लाल नेहरू द्वारा पास की गयी प्रस्तावन को आमुख भी कहते हैं।

Download Full भारत का संविधान in PDF

NOTE: समान्यतया इसमे से यह प्रश्न पूछा जाता है कि कौनसा शब्द संविधान की प्रस्तावना में वर्णित है जैसे कि समाजवादी, पंथनिरपेक्ष, लोकतंत्रात्मक गणराज्य आदि|

 

Filed in: इतिहास, भारत, सामान्य ज्ञान, सामान्य ज्ञान लेख Tags: , ,

You might like:

PM मोदी मिले चीनी राष्ट्रपति से महाबलीपुरम में PM मोदी मिले चीनी राष्ट्रपति से महाबलीपुरम में
अमिताभ बच्चन को दादा साहेब फाल्के पुरस्कार 2019 अमिताभ बच्चन को दादा साहेब फाल्के पुरस्कार 2019
प्रधानमंत्री पीएम मोदी ने संयुक्त राष्ट्र के जलवायु परिवर्तन सम्मेलन में भाग लिया प्रधानमंत्री पीएम मोदी ने संयुक्त राष्ट्र के जलवायु परिवर्तन सम्मेलन में भाग लिया
विश्व बॉक्सिंग चैम्पियनशिप में अमित पंघाल ने रजत पदक जीता विश्व बॉक्सिंग चैम्पियनशिप में अमित पंघाल ने रजत पदक जीता
© 2019 सामान्य ज्ञान. All rights reserved. XHTML / CSS Valid.
Proudly designed by eShala.org.