राशन की दुकानों से सस्‍ता अनाज प्राप्त करने के आधार कार्ड अनिवार्य

PDS-System-aadhar-cardकेंद्र सरकार ने रसोई गैस एलपीजी के बाद अब राशन की दुकानों से सब्सिडी वाला सस्‍ता अनाज की आपूर्ति पर आधार अनिवार्य कर दिया है। इसका मकसद खाद्य सुरक्षा कानून के तहत 1.4 लाख करोड़ रुपए की सब्सिडी को सही लोगों तक पहुंचाना है। जिन लोगों के पास आधार नंबर नहीं है उन्‍हें इसका आवेदन करने को 30 जून तक का समय दिया गया है। हालांकि, सरकार ने यह नहीं कहा है कि 30 जून के बाद आधार के बिना सब्सिडी वाला खाद्यान्न नहीं दिया जाएगा। राष्‍ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना के अंतर्गत मिलने वाला सस्‍ता राशन पाने के लिए अब लाभार्थियों को केवल आधार कार्ड का प्रयोग करना है। इससे लाभार्थी की पहचान होगी, दुकान स्‍तर पर होने वाला भ्रष्‍टाचार तथा अनाज की चोरी भी रुक सकेगी।
एनएफएसए के तहत राशन कार्ड रखने वाले व्‍यक्तिगत लाभार्थियों को सब्सिडी पाने के लिए अपने आधार नम्‍बर का प्रमाण देना होगा अथवा ‘आधार’ का अधिप्रमाणन कराना होगा उपभोक्‍ता मामले, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्रालय द्वारा अधिसूचना जारी की गई और यह 8 फरवरी, 2017 से प्रभावी मानी जायेगी। सेवाओं अथवा लाभों अथवा सब्सिडी की सुपुर्दगी के लिए पहचान के एक दस्तावेज़ के रूप में आधार के उपयोग से सरकार की सुपुर्दगी प्रक्रिया सरल बनती है, पारदर्शिता एवं कार्यकुशलता आती है तथा लाभभोगियों को उनकी पात्रता सुविधाजनक और आसान तरीके से सीधे प्राप्त होती है। आधार होने पर किसी व्यक्ति को अपनी पहचान सिद्ध करने के लिए एक से अधिक दस्तावेज़ प्रस्तुत करने की आवश्यकता नहीं होती है।

Filed in: Year 2017, फरवरी 2017, सम-सामयिकी, सामान्य ज्ञान Tags: ,

You might like:

राजीव गांधी किसान न्याय योजना राजीव गांधी किसान न्याय योजना
Budget 2020-21 highlights in Hindi बजट 2020-21 Budget 2020-21 highlights in Hindi बजट 2020-21
मनु भाकर ने ISSF विश्व कप में स्वर्ण जीता मनु भाकर ने ISSF विश्व कप में स्वर्ण जीता
PM मोदी मिले चीनी राष्ट्रपति से महाबलीपुरम में PM मोदी मिले चीनी राष्ट्रपति से महाबलीपुरम में
© 2020 सामान्य ज्ञान. All rights reserved. XHTML / CSS Valid.
Proudly designed by eShala.org.