आंध्र प्रदेश में भारत का 25वां उच्च न्यायालय स्थापित

Andhra Pradesh High court 25th HCआन्ध्र प्रदेश का नया उच्च न्यायालय 1 जनवरी 2019 को राजधानी अमरावती (Amaravati) में अस्तित्व में आ गया। इस प्रकार आन्ध्र प्रदेश उच्च न्यायालय भारतीय गणतंत्र का 25वाँ उच्च न्यायालय बन गया। अभी तक हैदराबाद उच्च न्यायालय (Hyderabad High Court) तेलंगाना व आन्ध्र प्रदेश के संयुक्त न्यायालय के रूप में हैदराबाद (Hyderabad) में काम कर रहा था। तेलंगाना व आन्ध्र प्रदेश के राज्यपाल ई.एस.एल. नरसिम्हन ने न्यायमूर्ति बी.एन. राधाकृष्णन (B.N. Radhakrishnan) को तेलंगाना उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश की शपथ दिलाई। वहीं इसी दिन एक पृथक न्यायालय के तौर पर हैदराबाद स्थित तेलंगाना उच्च न्यायालय (Telangana High Court) भी अस्तित्व में आ गया। राज्यपाल ने सी. प्रवीण कुमार (C. Praveen Kumar) को आन्ध्र प्रदेश के नवगठित उच्च न्यायालय का कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश नियुक्त किया। इसी के साथ हैदराबाद उच्च न्यायालय का अस्तित्व भी सदा के लिए समाप्त हो गया। उल्लेखनीय है कि वर्ष 2014 में तेलंगाना के अस्तित्व में आने के बाद से दोनों राज्यों के न्यायालयों को पृथक करने की मांग वकील तथा न्याय क्षेत्र से जुड़े लोग करते आ रहे थे।

Filed in: Year 2019, जनवरी 2019, भारत, सम-सामयिकी, समाचार, सामान्य ज्ञान Tags: , , , ,

You might like:

मनु भाकर ने ISSF विश्व कप में स्वर्ण जीता मनु भाकर ने ISSF विश्व कप में स्वर्ण जीता
महिंदा राजपक्षे होंगे श्रीलंका के नए प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे होंगे श्रीलंका के नए प्रधानमंत्री
अभिजीत बनर्जी और उनकी पत्नी सहित 3 लोगों को अर्थशास्त्र का नोबेल पुरस्कार अभिजीत बनर्जी और उनकी पत्नी सहित 3 लोगों को अर्थशास्त्र का नोबेल पुरस्कार
चिकित्सा का नोबेल पुरस्कार 2019, 3 वैज्ञानिकों को संयुक्त रूप से चिकित्सा का नोबेल पुरस्कार 2019, 3 वैज्ञानिकों को संयुक्त रूप से
© 2020 सामान्य ज्ञान. All rights reserved. XHTML / CSS Valid.
Proudly designed by eShala.org.