पर्यावरण मंत्री अनिल माधव दवे का निधन

anil dave environment ministerकेंद्रीय पर्यावरण राज्यमंत्री अनिल माधव दवे का 18 मई को निधन हो गया। दवे 5 जुलाई 2016 में केंद्रीय मंत्री बने थे और मध्यप्रदेश बीजेपी का बड़ा चेहरा थे। संघ से ताल्लुक रखने वाले अनिल दवे को एक प्रखर प्रवक्ता के तौर पर जाना जाता था। नर्मदा नदी को बचाने के लिए अनिल माधव ने बहुत काम किया। उन्होंने पर्यावरण को बचाने के लिए कई किताबें भी लिखीं। दवे एक अच्छे पर्यावरणविद थे और इसीलिए उन्होंने नर्मदा नदी के लेकर मुहिम भी चलाई। भोपाल में अपने घर का नाम भी उन्होंने नदी का घर रखा, जिसे लोगों के लिए एक संग्रहालय के रूप में खोला गया है। अनिल माधव दवे को चुनाव प्रबंधन में महारत हासिल थी। भाजपा संगठन को मजबूत करने में अनिल माधव दवे ने अहम भूमिका निभाई है।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनके निधन पर शोक व्यक्त किया है। पीएंम ने कहा कि वे दवे के आकस्मिक निधन से बहुत आहत हैं। अनिल माधव दवे हमेशा एक समर्पित जन सेवक के रूप में याद किए जाएंगे। वह पर्यावरण संरक्षण के लिए पूर्ण समर्पण के साथ काम कर रहे थे। उनका निधन मेरे लिए एक व्यक्तिगत नुकसान है। उपराष्ट्रपति तथा राज्यसभा के सभापति श्री एम हामिद अंसारी ने पर्यावरण, वन तथा जलवायु परिवर्तन मंत्री श्री अनिल माधव दवे के निधन पर शोक व्यक्त किया है। अपने संदेश में श्री अंसारी ने कहा कि श्री दवे 2009 से राज्यसभा के सक्रिय तथा सम्मानित सदस्य थे। उनके साथ काम करने वाले सभी लोगों को उनकी कमी खलेगी।

Filed in: Year 2017, प्रसिद्ध व्यक्ति, फ़ोटो से जाने, भारत, मई 2017, सम-सामयिकी, समाचार, सामान्य ज्ञान, सामान्य ज्ञान लेख, हमारा भारत Tags: , , , ,

You might like:

मनु भाकर ने ISSF विश्व कप में स्वर्ण जीता मनु भाकर ने ISSF विश्व कप में स्वर्ण जीता
महिंदा राजपक्षे होंगे श्रीलंका के नए प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे होंगे श्रीलंका के नए प्रधानमंत्री
अभिजीत बनर्जी और उनकी पत्नी सहित 3 लोगों को अर्थशास्त्र का नोबेल पुरस्कार अभिजीत बनर्जी और उनकी पत्नी सहित 3 लोगों को अर्थशास्त्र का नोबेल पुरस्कार
चिकित्सा का नोबेल पुरस्कार 2019, 3 वैज्ञानिकों को संयुक्त रूप से चिकित्सा का नोबेल पुरस्कार 2019, 3 वैज्ञानिकों को संयुक्त रूप से
© 2019 सामान्य ज्ञान. All rights reserved. XHTML / CSS Valid.
Proudly designed by eShala.org.