अरविंद पनगढ़िया ने नीति आयोग के उपाध्‍यक्ष पद से इस्‍तीफा दिया

arvind panagariya resign from niti aayogअरविंद पनगढ़िया ने नीति आयोग के उपाध्‍यक्ष पद से आज, 1 अगस्त को इस्‍तीफा दिया है, वह अब 31 अगस्‍त ही इस पद पर रहेंगे। तात्‍कालिक रूप से शिक्षा क्षेत्र में लौटने की बात कहकर उन्‍होंने इस्‍तीफा दिया है, हालांकि पनगढ़िया के इस्तीफे पर अभी अंतिम फैसला नहीं हो पाया है। अरविंद पनगढ़िया 5 जनवरी, 2015 को नीति आयोग के उपाध्‍यक्ष बने थे। योजना आयोग के नीति आयोग के रूप में गठन के बाद वह इसके पहले उपाध्‍यक्ष बने थे। प्रसिद्ध अर्थशास्‍त्री पनगढ़िया आर्थिक उदारीकरण के पैरोकार माने जाते रहे हैं। अरविंद नीति आयोग के उपाध्‍यक्ष बनने से पहले कोलंबिया यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर रहे हैं। वह इससे पहले एशियाई विकास बैंक के मुख्‍य अर्थशास्‍त्री रहे हैं। इसके अलावा वह वर्ल्‍ड बैंक, अंतरराष्‍ट्रीय मुद्रा कोष, विश्‍व व्‍यापार संगठन और अंकटाड में भी काम कर चुके हैं। उन्‍होंने प्रतिष्ठित प्रिंसटन यूनिवर्सिटी से पीएचडी की डिग्री ली है।
नीति आयोग क्या है ?
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 15 अगस्त, 2014 को लालकिले से अपने संबोधन के दौरान योजना आयोग को समाप्त करके उसके स्थान पर नीति आयोग स्थापित करने की घोषणा की थी। नीति आयोग का पूरा नाम नेशनल इंस्टीट्यूट फॉर ट्रान्सफॉर्मिंग इंडिया है। इस संस्था को बड़े थिंक टैंक के तौर पर माना जाता है। इस संस्था में 8 सदस्य होते हैं। आठ सदस्यीय थिंक टैंक में एक अध्यक्ष और सात सदस्य होते हैं। नीति आयोग का अध्यक्ष प्रधानमंत्री होता है जो वर्तमान में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हैं एवं अरविंद पनगढ़िया नीति आयोग के उपाध्‍यक्ष थे।

Filed in: Year 2017, अगस्त 2017, प्रसिद्ध व्यक्ति, भारत, समाचार, सामान्य ज्ञान, सामान्य ज्ञान लेख Tags: , , , ,

You might like:

अर्थशास्त्र नोबेल पुरस्कार 2017 रिचर्ड थेलर को अर्थशास्त्र नोबेल पुरस्कार 2017 रिचर्ड थेलर को
शांति नोबेल पुरस्कार 2017 ICAN को शांति नोबेल पुरस्कार 2017 ICAN को
साहित्य नोबेल पुरस्कार 2017 काजु़ओ इशिगुरो को साहित्य नोबेल पुरस्कार 2017 काजु़ओ इशिगुरो को
SBI के नए चेयरमैन बने रजनीश कुमार SBI के नए चेयरमैन बने रजनीश कुमार
© 9775 सामान्य ज्ञान. All rights reserved. XHTML / CSS Valid.
Proudly designed by eShala.org.