भारत रत्न 2019 – प्रणब मुखर्जी, नानाजी देशमुख और भूपेन हजारिका को

bharat ratna 2019 winnersगणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने तीन नामचीन हस्तियों को भारत रत्न देने का ऐलान किया है. इसमें पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी शामिल हैं. इनके अलावा सामाजिक कार्यकर्ता और संघ विचारक नानाजी देशमुख और प्रख्यात संगीतकार भूपेन हजारिका को मरणोपरांत इस सम्मान से सम्मानित किया गया है. भारत रत्न, देश का वो सर्वोच्च नागरिक सम्मान है, जो असाधारण राष्ट्रीय सेवा के लिए दिया जाता है.
पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी : प्रणव मुखर्जी भारत के 13 वें राष्ट्रपति रह चुके हैं. उन्होंने 25 जुलाई 2012 को राष्ट्रपति पद की शपथ ली थी. वह इस पद पर 25 जुलाई 2017 तक रहे. 1984 में प्रणव मुखर्जी वित्तमंत्री रह चुके थे. नरसिम्हा राव के मंत्रिमंडल में उन्होंने 1995 से लेकर 1996 तक विदेश मंत्री के रूप में काम किया था.कांग्रेस के अग्रिम कतार के नेताओं में गिने जाने वाले प्रणव मुखर्जी पिछले साल आरएसएस के कार्यक्रम में जाने को लेकर भी सुर्खियों में रहे.
नानाजी देशमुख: 11 अक्टूबर 1916 को जन्मेनानाजी देशमुख का 27 फरवरी 2010 को निधन हो गया. वह समाजसेवी और भारतीय जनसंघ के नेता थे. बताया जाता है कि 1977 में जब जनता पार्टी की सरकार बनी तो उन्हें मोरारजी देसाई मंत्रिमंडल में शामिल किया गया. मगर उन्होंने यह कहकर मंत्रिपद ठुकरा दिया कि 60 वर्ष से अधिक की उम्र के लोग सरकार से बाहर रहकर समाजसेवा का कार्य करें. उन्होंने दीन दयाल उपाध्याय शोध संस्थान के तहत तमाम समाजसेवा से जुड़े कार्यों को विस्तार दिया. अटल विहारी वाजपेयी की सरकार में उन्हें भारत सरकार ने पद्मविभूषण से सम्मानित किया था. नानाजी देशमुख का जन्म महाराष्ट्र के हिंगोली जिले में एक मराठा परिवार में हुआ था. 1940 में डॉ. हेडगेवार के निधन के बाद नानाजी ने संघ की शाखाओं से जुड़ने के लिए युवाओं को प्रेरित किया.
भूपेन हजारिका: भूपेन हजारिका ऐसे बिरले कलाकारों में रहे जो कि खुद गीत लिखते थे, संगीत देते थे और उसे गाते भी थे. आठ दिसंबर 1926 को असम में जन्मे भूपेन हजारिका का पांच नवंबर 2011 को निधन हो गया था. भूपेन हजारिका के गीतों ने लाखों को दीवाना बनाया. उन्होंने कई गीतों को जादुई आवाज दी. ओ गंगा तू बहती क्यों है… और दिल हूम हूम करे जैसे गीतों ने भूपेन हजारिका को प्रशंसकों को दिलों में हमेशा के लिए बसा दिया. असम का निवासी होने के कारण भूपेन असमिया संस्कृति और संगीत से भी जुड़े रहे. भूपेन हजारिका का जन्म असम के तिनसुकिया जिले की सदिया में हुआ था.

Filed in: Year 2019, कला एवं संस्कृति, जनवरी 2019, प्रसिद्ध व्यक्ति, फ़ोटो से जाने, भारत, सम-सामयिकी, समाचार, सामान्य ज्ञान, सामान्य ज्ञान लेख, हमारा भारत, हमारे राज्य Tags: , , , , , , , ,

You might like:

नोबेल पुरस्कार विजेता 2019 सूची नोबेल पुरस्कार विजेता 2019 सूची
इथियोपिया के प्रधानमंत्री को नोबेल शांति पुरस्कार 2019 इथियोपिया के प्रधानमंत्री को नोबेल शांति पुरस्कार 2019
PM मोदी मिले चीनी राष्ट्रपति से महाबलीपुरम में PM मोदी मिले चीनी राष्ट्रपति से महाबलीपुरम में
रसायनशास्त्र नोबेल पुरस्कार 2019 विजेता रसायनशास्त्र नोबेल पुरस्कार 2019 विजेता
© 2019 सामान्य ज्ञान. All rights reserved. XHTML / CSS Valid.
Proudly designed by eShala.org.