यूरोपीय संघ से अलग होगा ब्रिटेन – जनमत संग्रह

यूरोपीय संघ में रहने न रहने के सवाल पर ब्रिटेन में हुए जनमत संग्रह का नतीजा आ गया है जिसके अनुसार 52 प्रतिशत मतदाताओं ने यूरोपीय संघ से बाहर होने के पक्ष में मोहर लगाई है। कांटे के इस मुक़ाबले में वो लोग थोड़ा पीछे रह गए जो ब्रिटेन के यूरोपीय संघ के साथ रहने के पक्ष में थे। 48 प्रतिशत मतदाताओं ने यूरोपीय संघ के पक्ष में वोट दिया। पूर्वोत्तर इंग्लैंड, वेल्स और मिडलैंड्स में अधिकतर मतदाताओं ने यूरोपीय संघ से अलग होना पसंद किया है जबकि लंदन, स्कॉटलैंड और नॉर्दन आयरलैंड के ज्यादातर मतदाता यूBritain voted to exit European UnionBritain voted to exit European Unionरोपीय संघ के साथ ही रहना चाहते थे।
समाचार एजेंसी एएफपी के मुताबिक, पूर्वोत्तर इंग्लैंड के संडरलैंड में 65 प्रतिशत मतदान हुआ, जिसमें से ईयू छोड़ने वाले 61 प्रतिशत मतदाता जबकि इसका सदस्य बने रहने वाले 39 प्रतिशत हैं. न्यूकैसल में लगभग 68 प्रतिशत मतदान हुआ. जिब्राल्टर में मतदाता ईयू में बने रहने के पक्ष में हैं। ब्रिटेन के यूरोपीय यूनियन से बाहर होने के नतीजों के बीच भारतीय बाजार 3% गिर एवं पाउंड का मूल्‍य डॉलर की तुलना में शुक्रवार को नौ प्रतिशत तक गिर गया। यह 30 सालों की सबसे बड़ी गिरावट है। इससे पहले सितम्‍बर 1985 में ऐसी गिरावट देखनी को मिली थी। समाचार एजेंसी रॉयटर्स के अनुसार ब्रिटेन के यूरोपीय यूनियन रहने या न रहने पर जनमत संग्रह में अलग होने को लेकर बहुमत मिल रहा है। इसके चलते भारतीय समयानुसार पाउंड 9.26 प्रतिशत नीचे गिर गया और एक डॉलर के मुकाबले उसकी कीमत 1.34 रह गई।

Filed in: Year 2016, जून 2016, विश्व, व्यापार, सम-सामयिकी, समाचार, सामान्य ज्ञान, सामान्य ज्ञान लेख

You might like:

26 to 31 May 2020 Current Affairs in Hindi 26 to 31 May 2020 Current Affairs in Hindi
हॉकी खिलाडी बलबीर सिंह का निधन हॉकी खिलाडी बलबीर सिंह का निधन
21 to 25 May 2020 Current Affairs in Hindi 21 to 25 May 2020 Current Affairs in Hindi
राजीव गांधी किसान न्याय योजना राजीव गांधी किसान न्याय योजना
© 2020 सामान्य ज्ञान. All rights reserved. XHTML / CSS Valid.
Proudly designed by eShala.org.