DMK प्रमुख एम करुणानिधि का निधन

DMK Chief Karunanidhi diesतमिलनाडु के पूर्व मुख्यमंत्री और डीएम के प्रमुख एम करुणानिधि का आज निधन हो गया। वे एक सफल राजनेता, फिल्म लेखक, साहित्यकार के साथ-साथ पत्रकार, प्रकाशक और कार्टूनिस्ट भी रहे थे। उनके जीवन में राजनीति के अलावा रचनात्मकता एक अहम पक्ष रही। करुणानिधि लेखक, नाटककार और तमिल सिनेमा जगत के एक जानेमाने पटकथा लेखक के रूप में जाने जाते थे। उनके समर्थक उन्हें ‘कलाईनार’ यानि कि “कला का विद्वान” भी कहते हैं। वह 94 साल के थे। कावेरी अस्पताल के कार्यकारी निदेशक डॉक्टर अरविन्दन सेल्वाराज की ओर से जारी विज्ञप्ति के अनुसार, ‘हमें बड़े दुख के साथ बताना पड़ रहा है कि हमारे प्रिय कलैंग्नर एम. करुणानिधि का 7 अगस्त, 2018 को शाम छह बजकर दस मिनट पर निधन हो गया।
करुणानिधि ने 20 वर्ष की उम्र में तमिल फिल्म उद्योग की कंपनी ‘ज्यूपिटर पिक्चर्स’ में पटकथा लेखक के रूप में अपना करियर शुरू किया था। करुणानिधि ने द्रविड़ आंदोलन के माध्यम से राजनीति की सीढ़ियां चढ़ना शुरू किया था। वे समाजवादी और बौद्धिक आदर्शों को प्रोत्साहित करने वाली ऐतिहासिक व सुधारवादी कथाएं लिखने वाले रचनाकार के रूप में मशहूर हुए। तमिल सिनेमा जगत की वे जानीमानी हस्ती रहे थे। समाज सुधार करुणानिधि के लेखन में होता था जो उनकी फिल्मों में भी प्रतिबिंबित होता था. उनकी दो अन्य फिल्में ‘पनाम’ और ‘थंगारथनम’ में विधवा पुनर्विवाह, अस्पृश्यता का विरोध, जमींदारी प्रथा का विरोध और धार्मिक पाखंडों का विरोध दिखाई देता है। करुणानिधि के सामाजिक सरोकार से परिपूर्ण फिल्में जहां लोकप्रिय हुईं वहीं उनकी इन्हीं विषयों पर केंद्रिय नाटक भी मशहूर हुए।

Filed in: Year 2018, अगस्त 2018, प्रसिद्ध व्यक्ति, भारत, सम-सामयिकी, समाचार, सामान्य ज्ञान, सामान्य ज्ञान लेख Tags: , , , , ,

You might like:

ISRO ने GLSV Mark III D2 के जरिए संचार उपग्रह GSAT-29 का सफल प्रक्षेपण किया ISRO ने GLSV Mark III D2 के जरिए संचार उपग्रह GSAT-29 का सफल प्रक्षेपण किया
स्टैच्यू ऑफ यूनिटी (Statue of Unity) स्टैच्यू ऑफ यूनिटी (Statue of Unity)
ट्रेन 18 – भारत की पहली बिना इंजन की ट्रेन ट्रेन 18 – भारत की पहली बिना इंजन की ट्रेन
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सियोल शांति पुरस्कार 2018 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सियोल शांति पुरस्कार 2018
© 2018 सामान्य ज्ञान. All rights reserved. XHTML / CSS Valid.
Proudly designed by eShala.org.