UN में ट्रंप को झटका, भारत समेत 128 देशों ने US के विरोध में दिया वोट

Jerusalem as Israel's capital India votes against US at United Nationsसंयुक्त राष्ट्र महासभा ने 21 दिसंबर 2017 को एक प्रस्ताव पारित कर अमेरिका से यरुशलम को इजरायल की राजधानी के तौर पर मान्यता देने के फैसले को वापस लेने को कहा है। तुर्की और यमन की ओर से पेश इस प्रस्ताव का भारत समेत 128 देशों ने समर्थन किया। जबकि अमेरिका और इजरायल समेत सिर्फ नौ देशों ने ही प्रस्ताव के विरोध में वोट दिया। 35 देशों ने प्रस्ताव पर मतदान में हिस्सा नहीं लिया। वैश्विक मंच पर इस मसले को लेकर अमेरिका अलग-थलग पड़ गया, अमेरिका का साथ देने वालों में कोई बड़ा देश शामिल नहीं था। इजरायल के अलावा ग्वाटेमाला, होंडुरास, मार्शल आइलैंड्स, माइक्रोनेशिया, पलाउ, टोगो और अमेरिका ने प्रस्ताव के विरोध में वोट दिया।
बता दें कि अमेरिका ने इसी महीने की शुरुआत में अपनी घोषणा में कहा था कि वह यरुशलम को इस्राइल की राजधानी के रूप में मान्यता देंगे और अमेरिकी दूतावास को यरूशलम में स्थांतरित करेंगे। उनकी घोषणा के बाद लगातार विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं और इसकी आलोचना भी की जा रही है। 193 सदस्यों वाले संयुक्त राष्ट्र में अमेरिका की राजदूत निकी हेली ने महासभा के प्रस्ताव की आलोचना की। हेली ने कहा कि अमेरिका इस दिन को याद रखेगा जब एक संप्रभु देश के तौर पर अपने अधिकारों का इस्तेमाल करने की वजह से संयुक्त राष्ट्र महासभा में उस पर एकतरफा हमला हुआ।

Filed in: Year 2017, दिसम्बर 2017, फ़ोटो से जाने, भारत, विश्व, विश्व-सार, सम-सामयिकी, समाचार, सामान्य ज्ञान, सामान्य ज्ञान लेख Tags: , , , , , , , ,

You might like:

चंद्रयान-2 का प्रक्षेपण 22 जुलाई 2019 को – ISRO चंद्रयान-2 का प्रक्षेपण 22 जुलाई 2019 को – ISRO
जर्मनी की उरसुला वोन डेर लेयेन चुनी गई यूरोपीय आयोग की पहली महिला अध्यक्ष जर्मनी की उरसुला वोन डेर लेयेन चुनी गई यूरोपीय आयोग की पहली महिला अध्यक्ष
15वें वित्त आयोग का कार्यकाल 30 नवम्बर, 2019 तक बढ़ा 15वें वित्त आयोग का कार्यकाल 30 नवम्बर, 2019 तक बढ़ा
इंग्लैंड ने जीता क्रिकेट वर्ल्ड कप 2019 इंग्लैंड ने जीता क्रिकेट वर्ल्ड कप 2019
© 2019 सामान्य ज्ञान. All rights reserved. XHTML / CSS Valid.
Proudly designed by eShala.org.