कृष्णा सोबती को ज्ञानपीठ पुरस्कार 2017

krishna sobati jnanpith-award 2017साहित्य के क्षेत्र में दिया जाने देश का सर्वोच्च सम्मान ज्ञानपीठ पुरस्कार वर्ष 2017 के लिए हिन्दी की लब्धप्रतिष्ठित लेखिका कृष्णा सोबती को प्रदान किया जायेगा। ज्ञानपीठ के निदेशक लीलाधर मंडलोई ने बताया कि वर्ष 2017 के लिए दिया जाने वाला 53वां ज्ञानपीठ पुरस्कार हिन्दी साहित्य की सशक्त हस्ताक्षर कृष्णा सोबती को साहित्य के क्षेत्र में उनके उत्कृष्ट कार्य के लिए प्रदान किया जायेगा। पुरस्कार चयन समिति की बैठक में कृष्णा सोबती को वर्ष 2017 का ज्ञानपीठ पुरस्कार देने का निर्णय किया गया। पुरस्कारस्वरूप कृष्णा सोबती को 11 लाख रुपये, प्रशस्ति पत्र और प्रतीक चिह्न प्रदान किया जायेगा।
कृष्णा सोबती को उनके उपन्यास ‘ज़िंदगीनामा’ के लिए साल 1980 का साहित्य अकादमी पुरस्कार मिला था। उन्हें साल 1996 में अकादमी के उच्चतम सम्मान साहित्य अकादमी फैलोशिप से नवाजा गया था। कृष्णा सोबती के प्रमुख रचनाकर्म में ज़िन्दगीनामा, ऐ लड़की, मित्रो मरजानी और जैनी मेहरबान सिंह शामिल है।

कृष्णा सोबती के बारे में प्रमुख तथ्य:

  • कृष्णा सोबती का जन्म 18 फ़रवरी 1925 को गुजरात (अब पाकिस्तान में) में हुआ था।
  • अपनी संयमित अभिव्यक्ति और सुथरी रचनात्मकता के लिए जानी जाती हैं। उन्होंने हिंदी की कथा भाषा को विलक्षण ताज़गी़ दी है।
  • कृष्णा सोबती की प्रमुख रचनाएँ: डार से बिछुड़ी, मित्रो मरजानी, यारों के यार, तिन पहाड़, बादलों के घेरे, सूरजमुखी अंधेरे के, ज़िन्दगी़नामा, ऐ लड़की, दिलोदानिश, हम हशमत भाग एक तथा दो और समय सरगम तक उनकी कलम ने उत्तेजना, आलोचना विमर्श, सामाजिक और नैतिक बहसों की जो फिज़ा साहित्य में पैदा की है उसका स्पर्श पाठक लगातार महसूस करता रहा है। हाल ही में उनकी लंबी कहानी ए लडकी का स्वीडन में मंचन हुआ।
  • कृष्णा सोबती को सम्मान:
    • 1980: साहित्य अकादमी अवार्ड
    • 1981: शिरोमणी पुरस्कार
    • 1982: हिन्दी अकादमी अवार्ड
    • 1996: साहित्य अकादमी फेलोशिप
    • 1999: कछा चुडामणी पुरस्कार
    • 2000-2001: शलाका पुरस्कार
    • 2017: ज्ञानपीठ पुरस्कार वर्ष 2017
Filed in: Year 2017, कला एवं संस्कृति, नवंबर 2017, प्रसिद्ध व्यक्ति, भारत, लेखक एवं कवि, सम-सामयिकी, समाचार, सामान्य ज्ञान, सामान्य ज्ञान लेख, हिंदी भाषा, हिंदी भाषा ज्ञान Tags: , , , , , , , , , , , ,

You might like:

प्रधानमंत्री मोदी ने बिश्केक में शंघाई सहयोग संगठन सम्मेलन को संबोधित किया प्रधानमंत्री मोदी ने बिश्केक में शंघाई सहयोग संगठन सम्मेलन को संबोधित किया
RODRA – रिटायर्ड ऑफिसर्स डिजिटल रिकार्ड्स आर्किव RODRA – रिटायर्ड ऑफिसर्स डिजिटल रिकार्ड्स आर्किव
अमेरिका ने भारत से कारोबारी वरीयता का GSP दर्जा छीना अमेरिका ने भारत से कारोबारी वरीयता का GSP दर्जा छीना
अमित शाह ने गृह मंत्री का पदभार संभाला अमित शाह ने गृह मंत्री का पदभार संभाला
© 2019 सामान्य ज्ञान. All rights reserved. XHTML / CSS Valid.
Proudly designed by eShala.org.