कवि कुंवर नारायण का निधन

poet-kunwar-narayan-diesज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मानित हिंदी के प्रख्यात कवि कुंवर नारायण का आज,15 नवंबर को लंबी बीमारी के कारण निधन हो गया। वे 80 वर्ष के थे और पिछले कई दिनों से बीमार थे। दिल्ली के एक अस्पताल में उनका इलाज चल रहा था। कुंवर नारायण का जन्म फैजाबाद में हुआ था। लखनऊ उनकी कर्मभूमि रही लेकिन करीब 5 साल पहले वे परिवार सहित दिल्ली शिफ्ट हो गए थे। भारतेंदु नाट्य अकादमी और संगीत नाट्य अकादमी के वह अध्यक्ष भी रह चुके हैं।
2005 में कुंवर नारायण को साहित्य जगत के सर्वोच्च सम्मान ज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। उनकी पहली किताब ‘चक्रव्यूह’ साल 1956 में आई थी। साल 1995 में उन्हें साहित्य अकादमी और साल 2009 में उन्हें पद्म भूषण सम्मान भी मिला था। वह आचार्य कृपलानी, आचार्य नरेंद्र देव और सत्यजीत रे काफी प्रभावित रहे। चक्रव्यूह के अलावा उनकी प्रमुख कृतियों में तीसरा सप्तक- 1959, परिवेश: हम-तुम- 1961, आत्मजयी- प्रबंध काव्य- 1965, आकारों के आसपास- 1971, अपने सामने- 1979 शामिल हैं।

Filed in: Year 2017, कला एवं संस्कृति, कवितायेँ, नवंबर 2017, प्रसिद्ध व्यक्ति, फ़ोटो से जाने, लेखक एवं कवि, सम-सामयिकी, सामान्य ज्ञान, सामान्य ज्ञान लेख, हमारा भारत, हिंदी भाषा, हिंदी भाषा ज्ञान Tags: , , , , , , , , , , ,

You might like:

जम्‍मू-कश्‍मीर से धारा 370 खत्‍म जम्‍मू-कश्‍मीर से धारा 370 खत्‍म
रवीश कुमार को रैमॉन मैगसेसे 2019 पुरस्कार रवीश कुमार को रैमॉन मैगसेसे 2019 पुरस्कार
चंद्रयान-2 का प्रक्षेपण 22 जुलाई 2019 को – ISRO चंद्रयान-2 का प्रक्षेपण 22 जुलाई 2019 को – ISRO
जर्मनी की उरसुला वोन डेर लेयेन चुनी गई यूरोपीय आयोग की पहली महिला अध्यक्ष जर्मनी की उरसुला वोन डेर लेयेन चुनी गई यूरोपीय आयोग की पहली महिला अध्यक्ष
© 2019 सामान्य ज्ञान. All rights reserved. XHTML / CSS Valid.
Proudly designed by eShala.org.