ISRO का 100वां सैटेलाइट कार्टोसेट 2 लॉन्च हुआ

PSLV-C40 Launches Cartosat-2 100th Satelliteइसरो ने अपने 100वे उपग्रह का सफल प्रक्षेपण 12 जनवरी 2018 को किया। इसरो के प्रक्षेपण केंद्र श्री हरिकोटा से PSLV C-40 अपने साथ 31 सैटेलाइट लेकर उड़ा, जिसमें कार्टोसैट-2 सीरीज़ के निगरानी सैटेलाइट के अलावा एक भारतीय माइक्रो सैटेलाइट और एक नैनो सैटेलाइट है। इनमें 28 विदेशी उपग्रह भी शामिल थे। विदेशी उपग्रहों में कनाडा, फिनलैंड, कोरिया, फ्रांस, ब्रिटेन और अमेरिका के 25 नैनो और तीन माइक्रो सैटेलाइट शामिल हैं। यह दूसरा मौका है जब भारत ने एक साथ इतने सैटेलाइट भेजे हैं।
कार्टोसैट-2 सैटलाइट को ‘आई इन द स्काइ’ के नाम से भी जाना जा रहा है, क्योंकि ये अतंरिक्ष से तस्वीरें लेने के लिए ही बनाया गया है। कार्टोसैट 2 सैटेलाइट सीरीज एक निगरानी उपग्रह है जिसकी मदद से अब डिफेंस और कृषि क्षेत्र की तत्‍काल जानकारी मिलेगी। इसका इस्‍तेमाल तटीय क्षेत्रों और शहरों की निगरानी के लिए इस्‍तेमाल किया जाएगा। कार्टोसैट 2 सैटेलाइट सीरीज में हाईरेजुलेशन कैमरा लगा है जिससे खींची फोटो का इस्‍तेमाल किया जाएगा। इस मिशन में गए पीएसएलवी-सी 40 का कुल वजन 1323 किलोग्राम है। इस प्रक्षेपण के साथ ही इसरो के अध्‍यक्ष डॉक्‍टर ए.एस. किरन कुमार का कार्यकाल पूरा हो गया है। के सिवन आज इसरो, 12 जनवरी 2018 को नये चेयरमेन का कार्यभार संभालेंगे।

Filed in: Year 2018, जनवरी 2018, प्रमुख योजनाएँ, फ़ोटो से जाने, भारत, विज्ञान एवं तकनीकी, सम-सामयिकी, समाचार, सामान्य ज्ञान, सामान्य ज्ञान लेख, हमारा भारत Tags: , , , , , , , ,

You might like:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 3 देशों की यात्रा पर विदेश रवाना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 3 देशों की यात्रा पर विदेश रवाना
कॉमनवेल्थ गेम्स 2018 प्रमुख तथ्य कॉमनवेल्थ गेम्स 2018 प्रमुख तथ्य
साइना नेहवाल ने CWG 2018 में गोल्ड मेडल जीता साइना नेहवाल ने CWG 2018 में गोल्ड मेडल जीता
अनीश भंवला भारत के सबसे युवा राष्ट्रमंडल स्वर्ण पदक विजेता बने अनीश भंवला भारत के सबसे युवा राष्ट्रमंडल स्वर्ण पदक विजेता बने
© 2018 सामान्य ज्ञान. All rights reserved. XHTML / CSS Valid.
Proudly designed by eShala.org.