ट्रेन 18 – भारत की पहली बिना इंजन की ट्रेन

Train 18 Indiaट्रेन 18 – भारत की पहली बिना इंजन की ट्रेन – महत्वपूर्ण तथ्य:

  • ट्रेन 18, भारत की पहली बिना इंजन की ट्रेन का नाम है
  • बिना इंजन की ‘ट्रेन 18’ का ट्रायल रन चेन्नई में हुआ है
  • इस ट्रेन की अधिकतम गति 160 किमी प्रति घंटे की होगी, कई खूबियों के साथ जीपीएस से भी है लैस।
  • शताब्दी की जगह लेने वाली ट्रेन 18 कई मायनों में भारतीय रेल के लिए मिल का पत्थर साबित होगी।
  • मेट्रों ट्रेन की ही तरह ये एक ट्र्रेन सेट है जिसमें अलग से इंजन नहीं हैं। ये ट्रेन इलेक्ट्रिक ट्रैक्शन पर सेल्फ-प्रोपेल्ड मोड में चलेगी।
  • चेन्नई के इंटीग्रल कोच फैक्टरी में ट्रेन को 100 करोड़ रुपये की लागत से महज़ 18 महीनों में तैयार किया गया है।
    स्टेनलेस स्टील से तैयार ‘ट्रेन 18’ में आरामदायक कुर्सियों के साथ-साथ यात्रियों के मनोरंजन के लिए वाईफाई और इनफोटेनमेंट की पूरी सुविधा होगी।
  • ये पूरी ट्रेन वातानुकूलित है और इसमें सीसीटीवी कैमरे भी लगाए गए हैं। जीपीएस आधारित पैसेंजर इंफॉर्मेशन सिस्टम भी ट्रेन में लगाया गया है। ट्रेन में अत्याधुनिक सेफ्टी फीचर्स हैं और इसके सभी कल पुर्ज़े विश्वस्तरीय है।
    ट्रेन की आतंरिक साज-सज्जा भी शानदार है, बात चाहे इसके कलर कॉम्बिनेशन की हो, स्वचालित दरवाज़ों की हो, खिड़कियों की या फिर सीटों की, हर लिहाज़ से ट्रेन 18 किसी भी सेमी हाई स्पीड विश्वस्तरीय ट्रेन से कम नहीं।
  • तकरीबन 80 दिनों तक आरडीएसओ इस ट्रेन का ट्रायल करेगा और फिर जनवरी में इसे भोपाल से दिल्ली के बीच चलाया जाएगा।
  • ये ट्रेन न सिर्फ मेक इन इण्डिया के सपने को साकार कर रही है बल्कि बुलेट ट्रेन से पहले भारतीय रेल को नई रफ्तार भी दे रही है।
Filed in: Year 2018, अक्टूबर 2018, फ़ोटो से जाने, भारत, विज्ञान एवं तकनीकी, विश्व-सार, सम-सामयिकी, समाचार, सामान्य ज्ञान, सामान्य ज्ञान लेख, हमारा भारत Tags: , , , ,

You might like:

ISRO ने GLSV Mark III D2 के जरिए संचार उपग्रह GSAT-29 का सफल प्रक्षेपण किया ISRO ने GLSV Mark III D2 के जरिए संचार उपग्रह GSAT-29 का सफल प्रक्षेपण किया
स्टैच्यू ऑफ यूनिटी (Statue of Unity) स्टैच्यू ऑफ यूनिटी (Statue of Unity)
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सियोल शांति पुरस्कार 2018 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सियोल शांति पुरस्कार 2018
ममता कालिया को व्यास सम्मान 2018 ममता कालिया को व्यास सम्मान 2018
© 2018 सामान्य ज्ञान. All rights reserved. XHTML / CSS Valid.
Proudly designed by eShala.org.