अमेरिका ने भारत से कारोबारी वरीयता का GSP दर्जा छीना

usa-ends-gsp-status-to-indiaअमेरिका ने भारत को मिले सामान्य तरजीही प्रणाली (GSP) दर्जे को खत्म कर दिया है, जो पांच जून से लागू हो जाएगा। अमेरिका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने वाइट हाउस में इसकी घोषणा की है। ट्रंप ने चार मार्च को इस बात की घोषणा की थी कि वह जीएसपी कार्यक्रम से भारत को बाहर करने वाले हैं। इसके बाद 60 दिनों की नोटिस अवधि तीन मई को समाप्त हो गई। अब इस संबंध में किसी भी समय औपचारिक अधिसूचना जारी की जा सकती है। इस बीच भारत ने पहली प्रतिक्रिया में कहा है कि इस मुद्दे के समाधान के लिए अमेरिका के सामने प्रस्ताव रखा गया था, लेकिन उन्हें स्वीकार नहीं हुआ।
क्या है GSP दर्जा : GSP यानी जनरलाइज्ड सिस्टम ऑफ प्रेफरेंसेज। अमेरिका द्वारा अन्य देशों को व्यापार में दी जाने वाली तरजीह की सबसे पुरानी और बड़ी प्रणाली है। इसकी शुरुआत 1976 में विकासशील में आर्थिक वृद्धि बढ़ाने के लिए की थी। दर्जा प्राप्त देशों को हजारों सामान बिना किसी शुल्क के अमेरिका को निर्यात करने की छूट मिलती है। भारत 2017 में जीएसपी कार्यक्रम का सबसे बड़ा लाभार्थी रहा। वर्ष 2017 में भारत ने इसके तहत अमेरिका को 5.7 अरब डॉलर का निर्यात किया था। अभी तक लगभग 129 देशों को करीब 4,800 गुड्स के लिए GSP के तहत फायदा मिला है।
भारत ने द्विपक्षीय व्यापार चर्चा के एक हिस्से के रूप में पारस्परिक रूप से आगे बढ़ने के स्वीकार्य तरीके का पता लगाने के प्रयास में अमेरिका के महत्वपूर्ण अनुरोध पर एक प्रस्ताव प्रस्तुत किया था। दुर्भाग्य से इसे अमेरिका की स्वीकृति नहीं मिली। भारत, अमेरिका और अन्य देशों की तरह सदैव इस तरह के मामलों में अपने राष्ट्रीय हित बनाए रखेगा। हमारे पास महत्वपूर्ण विकास अनिवार्यताएं और चिंताएं हैं और हमारे देश के लोग जीवन में बेहतर मानकों की इच्छा रखते हैं। यह सरकार के दृष्टिकोण में मार्गदर्शक तथ्य बना रहेगा। विशेष रूप से आर्थिक संबंधों के क्षेत्र में ये ऐसे मुद्दे हैं जिन्हें समय-समय पर आपसी रूप से हल कर लिया जाता है। हम इस मुद्दे को एक नियमित प्रक्रिया के एक हिस्से के रूप में ही मानते हैं और अमेरिका के साथ आर्थिक और जनसंबंध दोनों ही क्षेत्रों में मजबूत संबंध बनाने का प्रयास जारी रखेंगे। हमें विश्वास है कि दोनों राष्ट्र पारस्परिक लाभकारी तरीके से इन संबंधों को आगे बढ़ाने के लिए मिलकर काम करते रहेंगे।

Filed in: Year 2019, फ़ोटो से जाने, भारत, विश्व, विश्व-सार, व्यापार, सम-सामयिकी, समाचार, सामान्य ज्ञान, हमारा भारत Tags: , , , , , , ,

You might like:

जम्‍मू-कश्‍मीर से धारा 370 खत्‍म जम्‍मू-कश्‍मीर से धारा 370 खत्‍म
रवीश कुमार को रैमॉन मैगसेसे 2019 पुरस्कार रवीश कुमार को रैमॉन मैगसेसे 2019 पुरस्कार
चंद्रयान-2 का प्रक्षेपण 22 जुलाई 2019 को – ISRO चंद्रयान-2 का प्रक्षेपण 22 जुलाई 2019 को – ISRO
जर्मनी की उरसुला वोन डेर लेयेन चुनी गई यूरोपीय आयोग की पहली महिला अध्यक्ष जर्मनी की उरसुला वोन डेर लेयेन चुनी गई यूरोपीय आयोग की पहली महिला अध्यक्ष
© 2019 सामान्य ज्ञान. All rights reserved. XHTML / CSS Valid.
Proudly designed by eShala.org.